मौत को मात देने बाले नाग देवता…!!!

July 16th, 2017 | Post by :- kangralive | 568 Views

सावन के महीने में लगते हैं मेले… जहाँ है चमत्कारी मिटटी…
अगर सांप काट ले तो लेप लगाने से मिलती है जहरीले विष से निजात…
रानीताल स्थित नाग मन्दिर में होता है भक्त ओर भगवान् का मिलन ।
नाग देवता के दर्श्नो से होता है कष्टों का निवारण…
मंगलवार और शनिवार को होती हैं भक्तों पर कृपा
देहरा। रानीताल के चेलीया गावं में आज रविवार से श्री नाग देवता के दो महिने 15 सितम्बर तक चलने वाले मेले शुरू होंगे। ये मेले सावन के महिना शुरु होते ही शुरु हो जाते हैं। जहाँ प्रत्यक्ष रूप में भगतों को नाग देवता दर्शन भी देते हैं। यहाँ की मान्यता है की जिस किसी को भी सांप,बिच्छू काट ले तो मात्र तीन बार परिक्रमा कर काटे गए स्थान पर धागा बाँध कर और यहाँ की चमत्कारी मिटटी का लेप लगाने से रोगी को निजात मिलती है। रानीताल के चेलियाँ गावं में स्थित श्री नाग मंदिर में श्री नाग देवता भगतों को दर्शन भी देते हैं । भक्त यहाँ की चमत्कारी मिटटी अपने साथ अपने घर ले जाते हैं । मान्यता है की इस मिटटी को अगर हम अपने घर के आस-पास पानी में घोल कर छिडकें तो जहरीले सांप, बिच्छू घर में नहीं घुसते और सांप-बिच्छू आदि के काटने का भय भी नहीं रहता । अगर किसी को काल सर्प योग हो तो श्री शेष नाग देवता के दर्शन कर ले तो काल सर्प योग से निजात पाता है । श्रद्धालू विपन, जोगींद्र, रजनीश, स्वर्ना, शालू , सोनू, अमन, नेहा, विक्की, राकेश ने कहा की श्री नाग देवता जी से जो भी मनोकामना मांगे वो पूरी होती है, और यहाँ की चमत्कारी मिटटी हम प्रसाद के रूप में ले जाते हैं । जिससे सांप के काटने का भय नहीं रहता ओर सांप के काटे पर लगाने ओर मिटटी को खाने से जहरीले विष से निजात मिलती है। श्री नाग देवता जी को नमक चढ़ाया जाता है, आटा चढ़ाया जाता है जिससे रोट बनाया जाता है। पुजारी रविन्द्र जमुआल कहते हैं की श्री नाग देवता के चमत्कार से यहाँ सांप, बिच्छू के काटे का इलाज होता है। श्री नाग देवता की प्रशाद में दी जाने बाली चमत्कारी मिटटी जिसके लेप से ओर चमत्कारी धागा बांधने से जहरीले विष से निजात मिलती है। पुजारी ने बताया की सवान के महिने दिनों में यहाँ दो महीने मेले लगते हैं। श्रद्धालू श्री नाग देवता से मन्नत मांगते हैं।